क्या गर्भावस्था के दौरान मैग्नीशियम लेना उचित?

शरीर के ठीक से कार्य करने के लिए और हड्डियों के निर्माण के लिए मैग्नीशियम एक बहुत ही महत्वपूर्ण खनिज है। गर्भवती महिला को पौष्टिक आहार का सेवन करना बहुत आवश्यक होता है और ऐसे में मैग्नीशियम बहुत ज़रूरी आहार साबित हो सकता है |मैग्नीशियम के निर्माण और गर्भावस्था के दौरान शरीर के ऊतकों की मरम्मत के लिए आवश्यक है। गर्भावस्था दौरान गंभीर मैग्नीशियम की कमी के परिणामों शिशु मृत्यु दर, भ्रूण के विकास में बाधा हो सकती है।मैग्नीशियम कैल्शियम के साथ मिलकर काम करता है मांसपेशियों को ठीक ढंग से विकसित करने के लिए

क्यों गर्भावस्था के दौरान मैग्नीशियम महत्वपूर्ण है ?

मैग्नीशियम और कैल्शियम मिलकर शरीर में मांसपेशियों का निर्माण करते है। गर्भावस्था के दौरान, मैग्नीशियम की उचित मात्रा गर्भाशय को बनाए रखने में मदद करती है और मिसकेरेज जैसी समस्या से बचाती है। प्रेग्नेंसी के दौरान पर्याप्त मात्रा मैग्नीशियम का सेवन बच्चे के मस्तिष्क के लिए अच्छा हो सकता है। मैग्नीशियम बच्चे के दांत और हड्डियों के विकास के लिए बहुत फायदेमंद होता है। अगर एक गर्भवती महिला उचित मात्रा में मैग्नीशियम ले, तो वो कोलेस्ट्रॉल और अनियमित दिल की धड़कन जैसी बीमारियों पर नियंत्रित पा सकती है।

गर्भावस्था में कितना मैग्नीशियम की आवश्यकता है?

गर्भावस्था के दौरान ज्यादा मात्रा में मैग्नीशियम लेना भी उतना ही बुरा है, जितना कम मात्रा में लेना। अत्यधिक मैग्नीशियम की खुराक या मैग्नीशियम लवण से कम रक्तचाप, दस्त, और निर्जलीकरण की समस्या हो सकती हैं।

गर्भावस्था के दौरान, आपको दैनिक 350 और 360 मिलीग्राम मैग्नीशियम के बीच की आवश्यकता होती है। स्तनपान कराने वाली माताओं को गैर-गर्भवती महिलाओं की तरह 310 से 320 मिलीग्राम दैनिक खाने चाहिए।

प्रेग्नेंसी के दौरान मैग्नीशियम के लिए खाएं ये चीजें

  • बादाम, किशमिश, काजू और मूंगफली से अच्छी मात्रा में मैग्नीशियम मिलता है।
  • आधा कप पका हुआ भूरे रंग का चावल 42 मिलीग्राम मैग्नीशियम प्रदान करता है।
  • आधे कप पालक से आपके शरीर को 78 मिलीग्राम मैग्नीशियम मिल सकता है।
  • एक कप दूध 24-27 मिलीग्राम मैग्नीशियम प्रदान करता है।
  • केले में 32 मिलीग्राम मैग्नीशियम होता है और सेब में 9 मिलीग्राम मैग्नीशियम होता है।